यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ आज आ रहे उत्तराखंड, 3 दिन का दौरा; गुरु की प्रतिमा का अनावरण, माँ से मुलाक़ात, परिसंपत्तियों का आवंटन समेत जानिए कार्यक्रम..

देहरादून: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज से उत्तराखंड के तीन दिवसीय दौरे पर रहेंगे.  यूपी में दूसरी बार मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ का यह पहला उत्तराखंड दौरा है. वह अपने पैतृक गाँव पंचूर में अपनी मां और बहन से भी मुलाकात करेंगे. परिजनों के अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ उन शिक्षकों से भी मुलाकात करेंगे, जिन्होंने उन्हें बचपन में पढ़ाया था. पौड़ी जिले के यमकेश्वर ब्लाक के अंतर्गत बिथ्याणी में वह अपने गुरु अवैद्यनाथ की प्रतिमा का लोकार्पण करेंगे. 4 तारीख को परिसंपत्ति को लेकर अधिकारियों की सीएम के साथ बैठक होगी. वहीं, 5 मई को योगी आदित्यनाथ हरिद्वार आएंगे और संतों से मुलाकात करेंगे.

खबर है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज दोपहर गंगोत्री धाम के कपाट खुलने के मौके पर गंगोत्री धाम में मौजूद रह सकते हैं. इसके बाद दोनों ही राज्यों के मुख्यमंत्री हैलीकाप्टर के जरिए यमकेश्वर के लिए प्रस्थान करेंगे. सीएम योगी यमकेश्वर ब्लाक में बिथ्याणी स्थित गुरु गोरखनाथ महाविद्यालय में आयोजित समारोह में अपने गुरु अवैद्यनाथ की प्रतिमा का लोकार्पण करेंगे. अवैद्यनाथ का जन्म 28 मई 1921 में पौड़ी गढ़वाल के कांडी गांव में हुआ था. उनके पिता का नाम राय सिंह बिष्ट था. वह सक्रिय राजनीति में भी रहे और बाद में गुरु गोरखनाथ मंदिर के पीठाधीश्वर के रूप में उनकी पहचान बन गई. उनका मुख्य उद्देश्य हिंदू समाज और सभ्यता को आगे बढ़ाने का था. हिंदू धर्म के सोशल इंजीनियरिंग पर उन्होंने हमेशा से काम किया. अवैद्यनाथ से ही योगी आदित्यनाथ को हिंदू युवा वाहिनी बनाने की प्रेरणा मिली थी. साल 1962, 1967, 1974 और 1977 में अवैद्यनाथ उत्तर प्रदेश विधानसभा में मानीराम सीट से विधायक भी चुने गए थे. इसके साथ ही 1989 और 1996 में गोरखपुर से लोकसभा के सदस्य भी रहे.

बताया गया कि, योगी चार मई को भी यमकेश्वर में रहेंगे. यमकेश्वर ब्लाक उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गृह ब्लाक है. माना जा रहा है कि चार मई को वह अपने पैतृक गांव में जाकर स्वजन से भेंट कर सकते हैं. योगी दो साल पूर्व पिता के देहवसान के बाद अंतिम दर्शन के लिए नहीं आ पाए थे. बता दें कि, योगी आदित्यनाथ का परिवार बेहद सादगी से रहता है. उनकी बहन शशि पौड़ी गढ़वाल में स्थित नीलकंठ मंदिर में ही चाय की दुकान लगाती हैं. योगी आदित्यनाथ की मां सावित्री देवी 84 साल की हैं. साल 2020 में कोविड के दौरान अपने पिता आनंद सिंह रावत के निधन के बाद अब तक योगी अपनी मां से नहीं मिले हैं, न ही अपने गांव गए हैं.

पांच मई को वह हरिद्वार में परिसंपत्तियों के बंटवारे में उत्तराखंड के हिस्से में आए अलकनंदा होटल को राज्य को समर्पित करेंगे, जबकि उत्तर प्रदेश के होटल का उद्घाटन करेंगे. हरिद्वार में मुख्यमंत्री धामी और योगी आदित्यनाथ के मध्य सिंचाई विभाग की परिसंपत्तियों के बंटवारे के संबंध में 18 नवंबर 2021 को हुई उच्च स्तरीय बैठक में बनी सहमति पर कार्रवाई को लेकर बातचीत हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!