विधानसभा शपथ ग्रहण: प्रोटेम स्पीकर की पीठ पर हाथ मारने पर मिली हिदायत.. कोई विधायक पढ़ ही नहीं पाए! गढ़वाली में शपथ अमान्य!

देहरादून: उत्तराखंड की पंचम विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों का शपथ ग्रहण समारोह आज विधानसभा भवन देहरादून में आहूत हुआ। इस दौरान प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 188 के तहत नवनिर्वाचित विधायकों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

कुल 70 में से 69 विधायकों को प्रोटेम स्पीकर ने दिलाई शपथ

विधानसभा के सदन में 69 विधायकों द्वारा शपथ ली गई। शपथ ग्रहण समारोह सभा मंडप में 11:00 बजे से प्रारंभ हुआ, जिसमें किच्छा के विधायक तिलक राज बेहड़ स्वास्थ्य खराब होने के कारण शपथ ग्रहण समारोह के दौरान सदन में मौजूद नहीं हो पाए। सूचना प्राप्त होने पर प्रोटेम स्पीकर ने तिलकराज बेहड़ से दूरभाष पर वार्ता कर स्वास्थ्य का हालचाल जाना क्या एवं कुशल क्षेम पूछी। नवनिर्वाचित विधायक अनुपमा रावत ने सबसे पहले शपथ ली।

06 विधायकों ने संस्कृत भाषा में ली शपथ

उत्तराखंड की पंचम विधानसभा के निर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान 06 विधायकों द्वारा संस्कृत भाषा में शपथ ली गई। जिनमें ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र से चौथी बार के विधायक प्रेमचंद अग्रवाल, चौबटियाखाल से विधायक सतपाल महाराज, कोटद्वार विधायक रितु खंडूरी भूषण, रानीखेत विधायक प्रमोद नैनवाल एवं थराली विधानसभा क्षेत्र से विधायक भोपाल राम टम्टा ने संस्कृत में शपथ ली।

विधायक किशोर उपाध्याय ने पहले गढ़वाली, फिर हिंदी में ली शपथ, जानिए वजह..

विधानसभा के शपथ ग्रहण समारोह में टिहरी विधायक किशोर उपाध्याय ने गढ़वाली भाषा में शपथ लेकर सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। लेकिन, बाद में किशोर को एक बार फिर हिंदी में शपथ लेनी पड़ी। प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने कहा कि गढ़वाली, संविधान के अनुरूप नहीं होने के कारण उन्हें दोबारा शपथ दिलाई गई। क्योंकि संविधान में हिंदी, अंग्रेजी और संस्कृत में ही शपथ लेने का प्रावधान है।

प्रोटेम स्पीकर की पीठ पर हाथ मारने पर मिली कौशिक को मिली हिदायत

इस दौरान विधानसभा में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और हरिद्वार से विधायक मदन कौशिक जब शपथ लेने जा रहे थे तो उन्होंने प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत की पीठ पर हाथ मारा। इस पर बंशीधर भगत ने मदन कौशिक को तुरंत डांट लगाई और गरिमा का ध्यान रखने की हिदायत दी।

विधायक सबरत करीम अंसारी ठीक से शपथ पढ़ नहीं पढ़ पाए!

हरिद्वार जिले की मंगलौर सीट से विधायक सबरत करीम अंसारी ठीक से शपथ ही नहीं ले पाए। वो शपथ लेते समय कई बार लड़खड़ाए। निर्वहन को वो निर्वाचन बोल गए तो प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने उन्हें दोबारा शपथ दिलाई। हालांकि दूसरी बार भी वो शपथ ठीक से नहीं ले पाए। सरबत करीम अंसारी ये कहते हुए सुने गए कि कागज कटा हुआ है। इसके बाद प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने अंसारी को खुद बोलकर शपथ दिलाई। शपथ के आखिर में अंसारी ये कठिन है कहते हुए सुनाई दिए।

प्रोटेम स्पीकर ने की सभी विधायकों के उज्जवल भविष्य की कामना

इस दौरान प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि, सभी निर्वाचित विधायकों द्वारा सदन में सद्भावना के साथ शपथ ली गई है। प्रोटेम स्पीकर ने सभी विधायकों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए समाज एवं प्रदेश हित में कार्य करने की बात कही।

सदस्य चुनेंगे विधानसभा अध्यक्ष, विधायक दल की बैठक में होगा मुख्यमंत्री का फैसला

विधानसभा चुनाव में इस बार भाजपा के 47, कांग्रेस के 19, बसपा के दो और निर्दलीय दो प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। शपथ ग्रहण करने के बाद सदस्यों की ओर से विधानसभा अध्यक्ष को चुना जाएगा। वहीं उत्तराखंड की पांचवीं विधानसभा के लिए प्रोटेम स्पीकर और नवनिर्वाचित विधायकों के शपथ के बाद अब सभी की निगाहें विधायक दल की बैठक पर टिकी हैं। मुख्यमंत्री का ताज किसके सिर सजेगा, इसका फैसला आज शाम को होने जा रही भाजपा विधायक मंडल दल की बैठक में हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!