गौरवशाली पल: नरेंद्र सिंह नेगी को मिला संगीत नाट्य अकादमी पुरस्कार, नई दिल्ली में उपराष्ट्रपति ने किया सम्मानित..VIDEO

नई दिल्ली: उत्तराखंड के लिए आज का दिन गौरवशाली है। सुप्रसिद्ध लोक गायक एवं गढ़रत्न नरेंद्र सिंह नेगी को संगीत नाट्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। नई दिल्ली विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में आज उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने ये पुरस्कार प्रदान किया।

पुरस्कार के रूप में उन्हें एक लाख रुपये की धनराशि, अंगवस्त्र और ताम्रपत्र दिया गया। नरेंद्र सिंह नेगी को लोकसंगीत के क्षेत्र में वर्ष 2018 के लिए यह पुरस्कार दिया गया। इसके अलावा कला और साहित्य जगत की 44 अन्य हस्तियों को भी यह पुरस्कार प्रदान किया गया। गौरतलब है कि, पहले ये पुरस्कार राष्ट्रपति की ओर से दिया जाना था, लेकिन उनके विदेश दौरे की वजह से उपराष्ट्रपति ने ये पुरस्कार वितरित किए। नरेंद्र सिंह नेगी 12 अप्रैल को दिल्ली के मंडी हाउस में लोकगीतों की प्रस्तुति भी देंगे। इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी मौजूद रहेंगे।

संगीत नाटक अकादमी की सचिव टेमसुनारो जमीर ने बताया कि, पुरस्कार वितरण की परंपरा 1952 से चली आ रही है। इस कार्यक्रम में संगीत, नृत्य, रंगमंच, पारंपरिक कलाओं, कठपुतली कला और अन्य विविध प्रदर्शन कला के क्षेत्र में कलाकारों द्वारा दिए गए विशिष्ट योगदान के लिए उन्हें रत्न सदस्यता और अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।पुरस्कारों का निर्णय अकादेमी महापरिषद् लेती है, जिसमें देश भर से नामित प्रतिष्ठित संगीतकार, नर्तक, थिएटर कलाकार और विद्वान शामिल होते हैं। संगीत नाटक अकादेमी पुरस्कार प्रदर्शन कला के क्षेत्र में प्रदर्शन करने वाले कलाकारों के साथ-साथ शिक्षकों और विद्वानों को भी यह राष्ट्रीय सम्मान दिया जाता है। यह सम्मान न केवल उत्कृष्टता और उपलब्धियों के सर्वोच्च मानक का प्रतीक है, बल्कि निरंतर व्यक्तिगत कार्य और योगदान को भी रेखांकित  करता है।

नरेंद्र सिंह नेगी का जन्म 12 अगस्त 1949 में पौड़ी जिले के पौड़ी गांव में हुआ। उन्होंने गायन और वादन की शुरुआत पौड़ी रामलीला से की थी। अब वह दुनिया भर में पहाड़ी संगीत और गीत की प्रस्तुति दे चुके हैं। गढ़रत्न नरेंद्र सिंह नेगी एक कवि, एक लेखक, एक गायक हैं, जिन्होंने पहाड़ की पीड़ा, दर्द, सुख, हंसी, खूबसूरती और अनेक रंगों को दुनिया के सामने शब्दों और संगीत के माध्यम से पेश किया।

वहीं नरेंद्र सिंह नेगी के साथ लेखक दीवान सिंह बजेली का भी सम्मान हुआ। दीवान सिंह बजेली को थिएटर सिनेमा, उत्कृष्ट लेखन और कुमाऊंनी साहित्य में विशेष योगदान के लिए संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार वर्ष 2018 से अलंकृत किया गया।

दीवान सिंह बजेली

मुख्यमंत्री ने लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी व दीवान सिंह बजेली को संगीत नाट्य अकादमी पुरस्कार मिलने पर दी बधाई

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश के प्रसिद्ध लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी तथा अभिनय कला के क्षेत्र में योगदान के लिये दीवान सिंह बजेली को राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित संगीत नाट्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किये जाने पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि पारम्परिक लोक गीत के क्षेत्र में नरेन्द्र सिंह नेगी तथा अदाकारी के क्षेत्र में दीवान सिंह बजेली को दिया गया सम्मान प्रदेश का भी सम्मान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश के लोक गीत संगीत एवं अभिनय कला को भी पहचान मिली है।

ज्ञातव्य है कि, लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी को पारंपरिक लोक गीत व संगीत के क्षेत्र में तथा श्री दीवान सिंह बजेली को अभिनय कला में योगदान/छात्रवृति के क्षेत्र में यह पुरस्कार दिया गया है। नरेन्द्र सिंह नेगी पौड़ी गढ़वाल तथा दीवान सिंह बजेली सोमेश्वर अल्मोड़ा के मूल निवासी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!