इन घटनाओं पर CM धामी सख्त.. DGP ने दिया 03 दिन का अल्टीमेटम; नहीं तो हटेंगे यह सारे SO और CO; SSP माने जाएंगे नाकाम

Uttarakhand News : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में पिछले दिनों हुई कतिपय घटनाओं का जल्द से जल्द खुलासा जल्द किए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि, प्रदेश को अपराध मुक्त बनाने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में डीजीपी अशोक कुमार ने इन वारदातों के खुलासे के लिए पुलिस अधिकारियों को 3 दिन का अल्टीमेटम दिया है। यदि नहीं खुलासा नहीं हुआ तो संबंधित थाना प्रभारी एवं क्षेत्राधिकारी को हटाया जाएगा और एसएसपी को अपराध नियंत्रण में नाकाम माना जाएगा।

पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अशोक कुमार ने उधमसिंहनगर के काशीपुर में खनन कारोबारी की हत्या, डोईवाला में हुई डकैती एवं जनपद हरिद्वार में पुलिसकर्मियों पर हुई फायरिंग के खुलासे के लिए 03 दिन का अल्टीमेटम दिया है।

डीजीपी ने कहा है कि, 03 दिन में इन घटनाओं का खुलासा न होने पर संबंधित थाना प्रभारी एवं क्षेत्राधिकारी को हटाया जाएगा।

वहीं उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि, इसके अतिरिक्त संबंधित जिलों के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को भी उपरोक्त घटनाओं के जल्द खुलासे न होने पर अपराध नियंत्रण में नाकाम माना जाएगा।

आपको बता दें कि, उधमसिंहनगर में ज्येष्ठ प्रमुख की पत्नी की हत्या के 12 घंटे के भीतर काशीपुर में खनन कारोबारी महल सिंह की हत्या कर दी गई। बाइक से पहुंचे बदमाश महज 07 सेकेंड के भीतर कारोबारी को गोली मारकर फारार हो गए। कुंडेश्वरी चौकी क्षेत्र के जुड़का नंबर-2 निवासी 65 वर्षीय क्रशर स्वामी महल सिंह पुत्र सिघारा सिंह गुरुवार सुबह 8:30 बजे नाश्ता करके घर पर अखबार में भरतपुर में बुधवार को हुए गोली कांड की खबर पढ़ रहे थे। इसी दौरान बाइक सवार दो बदमाश घर के सामने आते ही बाइक घुमाकर खड़ी। बाइक खड़ी करके दोनोें बदमाश घर में घुसे। बदमाशों ने फिल्मी इस्टाइल में मात्र सात सेकेंड में ही महल सिंह का मार्डर करके बाइक से फरार हो गए। इस दौरान महल सिंह को गोली लगने के बाद वह बदमाशों का पीछा करने के लिए दौड़े, लेकिन कुछ ही दूरी पर वह गिर पड़े और दोबारा नहीं उठ सके।

वहीं दूसरी घटना देहरादून के डोईवाला की है। जहां शहरी विकास मंत्री के चचेरे भाई और डोईवाला के प्रतिष्ठित व्यापारी शीशपाल अग्रवाल उर्फ कोली का घराट रोड पर आवास है। बताया जा रहा है कि व्यापारी अग्रवाल शनिवार को रोज की तरह घर से सुबह करीब 9 बजे डोईवाला चौक रेलवे रोड स्थित अपनी परचून की दुकान के लिए निकल गए। दोपहर करीब 12 बजे छह लोग खुद को व्यापारी का रिश्तेदार बताते हुए जबरन घर के अंदर घुस गए। हथियारों से लैस नकाबपोश बदमाशों ने शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल के चचेरे भाई के घर पर धावा बोला। बदमाशों ने घर की मालकिन और घर पर काम करने वाली दो महिलाओं को बंधक बनाकर डकैती की। करीब डेढ़ घंटे इत्मीनान से लूटपाट करने के बाद बदमाश नगदी और कीमती आभूषण लेकर फरार हो गए। दिनदहाड़े हुई इस दुस्साहसिक घटना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया।

इसके अलावा हरिद्वार के लक्सर में बदमाशों ने रविवार की देर शाम को सरेबाजार पुलिसकर्मियों पर गोली चला दी। यहां चेतक पर तैनात कांस्टेबल राजेंद्र चौहान व सतेंद्र नेगी नगर के हरिद्वार मार्ग पर गश्त पर थे। इस दौरान संदिग्ध व्यक्तियों के देख नगर में फ्लाईओवर की ओर बढ़ रहे संदिग्धों को पकड़ने आगे बढ़े तो बदमाशों ने उन पर गोली चला दी। गोली कांस्टेबल राजेंद्र चौहान के दाहिने पैर पर लगी जबकि पंचम को छर्रे लगे, जिससे पुलिसकर्मी वहीं गिर पड़े। इस बीच तीन बदमाश बाइक पर सवार होकर फायरिंग करते हुए वहां से फरार हो गए। जबकि दो पैदल भागने में सफल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!