सीएम धामी ने होमगार्ड जवानों को दी सौगात, की ये घोषणाएं..

देहरादून: उत्तराखंड होमगार्ड एवं नागरिक सुरक्षा की स्थापना दिवस दिनांक 6 दिसंबर 2023 के अवसर पर रैतिक परेड का आयोजन किया गया। रैतिक परेड का मुख्यमंत्री उत्तराखंड पुष्कर सिंह धामी जी द्वारा मान प्रणाम ग्रहण किया गया।

सर्वप्रथम परेड के प्रारंभ में कमांडेंट जनरल होमगार्ड केवल खुराना का परेड द्वारा अभिवादन किया गया, तत्पश्चात अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी का परेड द्वारा अभिवादन किया गया। मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार जो कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के तौर पर उनके आगमन पर परेड द्वारा अभिवादन किया गया।

केवल खुराना कमांडेंट जनरल होमगार्ड ने मुख्यमंत्री का परेड पर आगमन एवं उनके द्वारा प्रदान किए गए समय के लिए आभार व्यक्त किया। उनके द्वारा बताया गया की परेड में नवीन भारती महिला होमगार्ड स्वयंसेवकों की चार टोलियाँ सम्मिलित की गई है एवं सभी टोलियां की टोली कमांडर महिला होमगार्ड स्वयंसेवक है। चार जनपदों की नवीन भारती महिला होमगार्ड का प्रशिक्षण जिला प्रशिक्षण केंद्र में पूर्ण हो गया है एवं बाकी शेष 188 महिला होमगार्ड स्वयंसेवकों का प्रशिक्षण गतिमान है। केवल खुराना द्वारा बताया गया कि आपदा राहत एवं बचाव के लिए विभाग द्वारा द्रुत एप बनाया गया है जिसमे होमगार्ड स्वयंसेवकों की मैपिंग कर ली गई है, एप के माध्यम से होमगार्ड स्वयंसेवकों को सूचना प्राप्त होगी एवं न्यूनतम तीन होमगार्ड बचाव के लिए पहुंचेंगे। अधीनस्थ जनपदों में होमगार्ड बैरक एवं ट्रांसिट कैंप हेतु भूमि आवंटित कर ली गई है। राज्य में प्रथम बार महिला एवं पुरुष होमगार्ड द्वारा अन आर्म्ड कॉम्बैट का प्रशिक्षण प्राप्त किया गया है।

होमगार्ड जवानों का मोटरसाइकिल दस्ता दहाड़ साहस कौशल एवं संतुलन को प्रदर्शित करते हुए 13 कलाओं का प्रदर्शन मुख्यमंत्री समक्ष किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि सरकार द्वारा होमगार्ड महिला हम स्वयंसेवकों के लिए प्रसूति अवकाश अनमान्य किया गया है इसके लिए उन्होंने आभार जताया। खुराना द्वारा अवगत कराया की 24 घंटे कार्य करने के उद्देश्य से चारों धामों में हेल्प डेस्क की स्थापना की गई जिसमें वर्तमान तक 2945 जरूरतमंदो की सहायता की गई है। इसके अतिरिक्त श्री खुराना द्वारा बताया गया कि होमगार्ड स्वयंसेवक के लिए प्रशिक्षण पुस्तिका बनाई गई है, होमगार्ड सीएम सेवकों के लिए बनाए गए पहल एप को स्कॉच ग्रुप के स्कॉच आर्डर ऑफ़ मेरिट अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है। खुराना द्वारा होमगार्ड स्वयंसेवकों के कल्याण हेतु विभिन्न मांगों को भी प्रस्तावित किया।

मुख्यमंत्री एवं अन्य गण मान्य व्यक्तियों द्वारा होमगार्ड स्वयंसेवकों के लिए बनाई गई प्रशिक्षण पुस्तिका, आपदा एवं बचाव कार्य के लिए बनाए गए होमगार्ड विभाग के द्रुत एप का विमोचन, विभिन्न कार्यों के लिए ट्रांजिट कैंपों के लिए भूमि पूजन, केंद्रीय प्रशिक्षण में ऑब्सटेकल ट्रैक का लोकार्पण किया गया।

परेड मे होमगार्ड स्वयंसेवकओ द्वारा अन आर्म्ड कॉम्बैट दस्ते का प्रस्तुतीकरण किया गया, तथा होमगार्ड की मोटरसाइकिल दस्ते दहाड़ का प्रदर्शन किया गया। मुख्यमंत्री द्वारा निम्नलिखित अधिकारी एवं कार्मिकों को राष्ट्रपति के सराहनीय एवं विशिष्ट सेवा के लिए प्राप्त मेडल एवं प्रमाण पत्र को दिया गया।

विशिष्ट सेवा मेडल एवं प्रमाण पत्र

अमिताभ श्रीवास्तव डिप्टी कमांडेंट जनरल होम गार्ड्स.
राजीव बलोनी डिप्टी कमांडेंट जनरल होमगार्ड।

सराहनीय सेवा के लिए मेडल एवं प्रमाण पत्र

मोहन सिंह खाती, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी होमगार्ड, अल्मोड़ा.

राजपाल राणा अवैतनिक प्लाटून कमांडर होमगार्ड चमोली।

मुख्यमंत्री द्वारा होमगार्ड विभाग की सेवा पृथक एवं मृतक होमगार्ड की परिजनों को रुपये 2 लाख की सहायता राशि प्रदान की गई।इसके उपरांत माननीय मुख्यमंत्री महोदय द्वारा 320 नव चयनित महिला होमगार्ड स्वयंसेवकों को नियुक्ति पत्र प्रदान किए गए।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि स्थापना दिवस पर आप सभी के मध्य उपस्थित होने का मुझे अवसर प्राप्त हुआ है मैं इसके लिए सभी अधिकारी कार्मिकों को बधाई देता हूं। होमगार्ड महिला टोलियों का अनुशासन देखते ही बनता है इनके परेड में बेहतरीन प्रदर्शन किया गया उसके लिए बधाई की पात्र है।विभाग में आपदा एवं राहत एवं बचाव कार्य के लिए बनाएं गए द्रुत मोबाइल एप्लीकेशन को बहुत ही सराहनीय कदम बताया इस ऐप के प्रयोग से जनमानस को तत्काल सहायता प्राप्त करायेगा और यह पहला प्रदेश है जहाँ यह एप बनाया यह हमारे लिए काफी गर्व का विषय है।

होमगार्ड विभाग द्वारा प्रदेश में 320 महिला होमगार्ड स्वयंसेवकों की निर्विघ्न एवं निर्विवाद भर्ती कराई गई है इसके लिए विभाग के अधिकारी बधाई के पात्र हैं। निश्चित रूप से यह प्रदेश की मातृशक्ति को आर्थिक एवं मानसिक रूप से सशक्त बनाने हेतु एक सराहनीय कदम है। महिला होमगार्ड स्वयंसेवकों के लिए उत्तराखंड राज्य सरकार द्वारा 28 नवंबर 2030 से प्रसूति अवकाश अनुमन्य किया गया है। और पूरे सेवा काल में होमगार्ड स्वयंसेवकों को 6 माह का चिकित्सा अवकाश प्रदान किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला एवं पुरुष होमगार्ड द्वारा निशस्त्र युद्ध तथा आत्मरक्षक दल का प्रदर्शन उच्च कोटि का है। होमगार्ड के मोटरसाइकिल दस्ते बहुत बढ़िया रहा।

महिला तथा पुरुषों का कंधे से कन्धा मिलकर कार्य करना आंखों को सुख देने वाला है। मुख्यमंत्री द्वारा चार धाम मे श्रद्धालुओं के लिए होमगार्ड हेल्प डेस्क का कि उन्होंने भूरी भूरी प्रशंसा की। होमगार्ड जवानों को दिए जा रहे प्रशिक्षणो पिस्तौल तथा एसएलआर से फायरिंग अभ्यास को आधुनिक उत्तराखण्ड के लिए बेहतरीन बताया। मुख्यमंत्री द्वारा ऋतिक परेड के लिए सभी जवानों कार्मिकों अधिकारियों तथा कमांडेंट जनरल होमगार्ड को बधाइयां दी। उन्होंने कहा की उन्हें विश्वास है कि आने वाले समय में होमगार्ड जवान उत्तराखंड राज्य के विकास तथा कानून व्यवस्था एवं शांति स्थापना की कार्यों में निरंतर महत्वपूर्ण योगदान देते रहेंगे।

मुख्यमंत्री द्वारा होमगार्ड विभाग के लिए निम्नलिखित घोषणाएं की

1- होमगार्ड विभाग में शस्त्र प्रशिक्षण प्रदान किए जाने हेतु इंडोर फायरिंग रेंज को प्रेम नगर में उपलब्ध भूमि पर निर्माण कराए जाने की घोषणा की।

2- होमगार्ड जवानों को वर्ष भर में 12 आकस्मिक अवकाश दिए जाने की घोषणा की।

3- होमगार्ड स्वयंसेवकों की कंपनी कार्यालय/ ट्रांसिट कैंप/ एवं इमरजेंसी सर्च एवं रेस्क्यू सेंटर हेतु प्रदेश की कुल नौ स्थानों पर आवंटित भूमि पर निर्माण कार्य हेतु कुल 13 करोड़ 12 लाख के व्य की घोषणा की।

4- विभागीय मोटरसाइकिल दस्ते हेतु 21 मोटरसाइकिल क्रय करने की घोषणा की।

5- पुलिस कर्मीकों एस डि आरएफ की भांति 9000 फीट से अधिक ऊंचाई पर ड्यूटी रत होमगार्ड से सेवकों को रुपया 200 प्रतिदिन प्रति जवान की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाने की घोषणा की।

घोषणाओं के उपरांत मुख्यमंत्री एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों द्वारा, नवीन भर्ती महिला होमगार्ड्स के साथ ग्रुप फोटोग्राफ भी खिचवाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *