देहरादून में पकड़ी गई 900 किलो नकली पनीर; रेस्टोरेंट, डेरी, वेडिंग प्वाइंट कैटरर्स में थी सप्लाई; ऐसे बनाते थे नकली पनीर..

देहरादून में सिंथेटिक पनीर की रोकथाम में जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार के निर्देश पर एफडीए की टीम द्वारा बड़ी कार्रवाई.

सिंथेटिक पनीर सामग्री एवं खाद्य सामग्री में मिलावट पर आ रही शिकायतों को मध्य नजर जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार ने जिला खाद्य संरक्षा अधिकारी देहरादून पी सी जोशी ने चेकिंग अभियान चलाकर मिलावट खोरी पर कड़ी कार्रवाई के दिशा निर्देश दिए. जिस के क्रम में कार्यवाही करते हुए जिला खाद्य सुरक्षा टीम के सदस्यों द्वारा आज बड़ी कामयाबी हासिल की.

अभियान के तहत तीन टीमें शहर के अलग-अलग स्थानों में गठित की गई थी, जिसमें एक टीम उपायुक्त गढ़वाल मंडल राजेंद्र रावत के नेतृत्व में सहारनपुर रोड भंडारी बाग एरिया में वाहनों की चेकिंग कर रही थी एवं दूसरी टीम मे जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी पी सी जोशी के नेतृत्व में नेहरू कॉलोनी क्षेत्र एवं तीसरी टीम मसूरी डायवर्शन पर वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी योगेंद्र पांडे एफडीए विजिलेंस से संजय नेगी आदि वाहनों में निगरानी कर रही थी.

नेहरू कॉलोनी फवारा चौक से पनीर से भरी गाड़ी निकली, जिसको टीम द्वारा रोककर उसकी प्राथमिक जांच व पूछताछ में पता चला कि, उसमें 4 कुंटल सिंथेटिक पनीर था. वह सहस्त्रधारा रोड में एक दूसरे प्राइवेट कार से मसूरी भेजने की तैयारी थी.

दूसरी टीम उपायुक्त गढ़वाल मंडल राजेंद्र सिंह रावत के निर्देशन में भंडारी बाग सहारनपुर रोड क्षेत्र में थी. जहां पर एक गाड़ी में लगभग 5 कुंटल सिंथेटिक पनीर गाड़ी के भीतर पाया गया. गाड़ी मालिक का नाम इरशाद था और उसमें भी रखा पनीर अनहाइजीनिक एवं सिंथेटिक था. वह भी सिंथेटिक पनीर को मसूरी तक पहुंचाना चाह रहा था, लेकिन अधिकारियों द्वारा उक्त दोनों वाहनों को नगर निगम के हरिद्वार रोड में स्थित नगर निगम के कूड़ा डंपिंग जोन पहुंचाया और जेसीबी की सहायता से नगर निगम कर्मचारियों द्वारा लगभग 9 कुंटल सिंथेटिक पनीर एक गड्ढे में दबा दिया. पनीर मावा के पांच नमूने क्वालिटी जांच हेतु गवर्नमेंट लैब रुद्रपुर भेजे है. कहा कि फूड सेफ्टी विभाग द्वारा नकली पनीर रोकथाम अभियान लगातार जारी रहेगा.

जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार ने खाद्य सुरक्षा की टीम एवं संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए कि सिंथेटिक सामग्री एवं मिलावट खोरों पर कड़ी निगरानी बनाये रखें तथा बाहर से आ रही सामग्रियों की तलाशी लेना सुनिश्चित करें. संलिप्त पाए जाने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए, ताकि आम जनमानस के स्वास्थ्य पर खिलवाड़ न कर सके.

जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी पी सी जोशी ने बताया कि, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर आदि क्षेत्रों से कुछ व्यक्तियों द्वारा रिफाइंड आयल, लो फैट मिल्क पाउडर आदि से पनीर तैयार कर उसे सस्ते दामों में कुछ डेरियों रेस्टोरेंट्स होटल्स मे प्राइवेट गाड़ियों में सप्लाई किया जा रहा था. पर्यटक सीजन एवं शादियों के सीजन के कारण आज कल दून, मसूरी मे पनीर की डिमांड बढ़ गई है, जिसके कारण सस्ते दाम में कुछ रेस्टोरेंट, डेरी एवं और वेडिंग प्वाइंट कैटरर्स सस्ता होने के कारण उसको खरीद रहे थे.

टीम में उपायुक्त गढ़वाल मंडल राजेंद्र सिंह रावत, पीसी जोशी, संजय तिवारी योगेंद्र पांडे रमेश सिंह मंजू रावत एफडीए विजिलेंस उप निरीक्षक जगदीश रतूड़ी , संजय नेगी योगेंद्र आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
error: कॉपी नहीं, शेयर कीजिए!